Rs. 499/- से अधिक के ऑर्डर पर मुफ्त डिलीवरी पायें  |"KHARIF3" कोड का उपयोग करें और Rs. 4999/- से अधिक के खरीद पर 3% की छूट पायें         कोड "KHARIF5" कोड का उपयोग करें और Rs. 14999/- से अधिक के खरीद पर 5% की छूट पायें         Rs. 1199/- से अधिक के ऑर्डर पर मुफ्त डिलीवरी पायें   

Menu
0

जल संरक्षण: नाबार्ड मानसून से पहले 1,00,000 गांवों

द्वारा प्रकाशित किया गया था Admin Temp पर

करेगा मानसून से पहले नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (नाबार्ड) अपने जल संरक्षण कार्यक्रम के साथ 100,000 गांवों तक पहुंच जाएगा। ग्रामीणों के साथ मिलकर कृषि और घरेलू उद्देश्यों के लिए पानी के बेहतर उपयोग पर काम करेगा।
 
कई इलाकों में सूखे जैसी स्थिति के बीच वह किसानों को पानी की उपलब्धता और उपयोग को कम से दो महीने तक बढ़ाने में मदद करे । साथ ही बैंकों से कहा कि अगर अभियान के बाद सिंचाई के लिए कोई मांग आती है तो किसानों को अग्रिम प्रदान करें ।

 
"हम किसानों और ग्रामीणों को पानी के कुशल उपयोग के बारे में शिक्षित करेंगे । नाबार्ड के में जाएंगे संचालन
 
वर्तमान में 8 हजार स्वयंसेवकों को प्रशिक्षण दे रहा है। यह अभियान अगले सप्ताह शुरू होगा और मध्य जून में समाप्त होगा । ये स्वयंसेवक प्रत्येक गांव से 11 लोगों का चयन करेंगे और उन्हें प्रशिक्षित करेंगे जो बदले में कार्यक्रम के लिए १,१००,० की ताकत पैदा करेंगे ।
 
कृषि और पेयजल के लिए बारिश के पानी पर निर्भर है। कई इलाके ऐसे हैं जहां भूजल स्तर नीचे चला गया है।  ज्यादातर जनवरी या फरवरी के बाद गांवों में पानी की किल्लत शुरू हो जाता है।
 
दवे ने कहा, हम उम्मीद कर रहे हैं कि बैंकों की भागीदारी से जल स्रोतों के निर्माण और इसके कुशल उपयोग में निजी निवेश के लिए ऋण में वृद्धि होगी । हम पहले ही बैंकों से परियोजना के बाद सूक्ष्म सिंचाई के लिए ऋण उपलब्ध कराने को कह चुके हैं। केंद्र सरकार ने सूक्ष्म सिंचाई के लिए 5,000 करोड़ रुपये का फंड आवंटित किया
 
मानसून के बाद कार्यक्रम के परिणाम का अध्ययन करने के लिए देशभर के करीब 100 गांवों में सैंपल सर्वे कराएगा और परिणाम के आधार पर इसे और गांवों तक पहुंचाएगा।

पानी की परेशानियों से निपटना
  • ग्रामीणों के साथ कृषि और घरेलू उद्देश्य के लिए पानी के बेहतर इस्तेमाल पर काम करेगा
  • बैंकों से यह भी कहा कि अगर अभियान के बाद सिंचाई के लिए कोई मांग आती है तो किसानों को अग्रिम प्रदान
  • सिंचाई के लिए ५,००० करोड़ रुपये का फंड आवंटित किया
  • है:

मूल:

http://www.business-standard.com/article/economy-policy/water-conservation-nabard-to-help-1-00-000-villages-before-monsoon-117051300509_1.html


इस पोस्ट को साझा करें



← पुराना पोस्ट नई पोस्ट →


एक कमेंट छोड़ें