1199 रुपये से ऊपर के ऑर्डर पर मुफ्त डिलीवरी और एनबीएएसपी और एनबीएसपी और एनबीएसपी और एनबीएसपी और एनबीएसपी और एनबीएसपी और एनबीएसपी और एनबीएसपी और एनबीएसपी और एनबीएसपी और एनबीएसपी और एनबीएसपी स्टोरवाइड ऑफर | कोड का उपयोग करें: "स्प्रिंग" और 3000 रुपये से ऊपर के ऑर्डर पर अतिरिक्त 3% छूट प्राप्त करें

Menu
0

बागवानी उत्पादन 2016-17 में एक रिकॉर्ड ३०० मीटर की गति से देखा

द्वारा प्रकाशित किया गया था BigHaat India पर

वर्ष 2016-17 (जुलाई-जून) के लिए बागवानी फसलों का उत्पादन रिकॉर्ड 300 मिलियन टन (मीट्रिक टन) आंका गया है, जिसमें फल और सब्जियों में प्रचुर वर्षा और क्षेत्र में वृद्धि के कारण उत्पादन में उल्लेखनीय वृद्धि देखी जा रही है। सरकार द्वारा गुरुवार को जारी बागवानी उत्पादन के तीसरे अग्रिम अनुमानों के अनुसार, खेती के तहत क्षेत्र 2015-16 में २४,५००,० हेक्टेयर से २.१,०००,० हेक्टेयर (हेक्टेयर) तक २.६ प्रतिशत बढ़कर २५,१००,० हेक्टेयर (हेक्टेयर) हो गया ।

सभी प्रमुख मुख्य सब्जियों-प्याज, आलू और टमाटर-उत्पादन में वृद्धि दर्ज की गई है । जबकि 2016-17 में प्याज का उत्पादन 21.72 मीटर रहने का अनुमान है, पिछले वर्ष के 2093 मीटर की तुलना में 38 प्रतिशत, टमाटर का उत्पादन रिकॉर्ड 19.54 मीट्रिक टन, 18.73 मीट्रिक टन से 4.3 प्रतिशत अधिक है। 48.2 मीट्रिक टन आलू का उत्पादन भी पिछले वर्ष के 43.42 मीट्रिक टन की तुलना में काफी अधिक होने का अनुमान है।

 

फल, सब्जियां, फूल, वृक्षारोपण फसलों और मसालों सहित 2016-17 में बागवानी फसलों का कुल उत्पादन रिकॉर्ड 299.85 मीट्रिक टन होने का अनुमान है, जो पिछले वर्ष के 28618 मीटर की तुलना में 46 प्रतिशत अधिक है। अनुमानित उत्पादन में 07 प्रतिशत की मामूली वृद्धि हुई है, जबकि इस वर्ष मई में जारी दूसरे अग्रिम अनुमानों में 295 मीट्रिक टन दर्ज की गई थी। फलों का उत्पादन 2015-16 में 90 मीटर से बढ़कर 93.7 मीट्रिक टन होने की संभावना है, जबकि सब्जी उत्पादन रिकॉर्ड 176 मीट्रिक टन होने का अनुमान है, जबकि पिछले साल यह 169 मीट्रिक टन था।

सभी प्रमुख फल फसलों - सेब को छोड़कर - उत्पादन में एक महत्वपूर्ण वृद्धि दर्ज की गई। प्रतिशत के मामले में सबसे अधिक वृद्धि मसालों द्वारा दर्ज की गई है, जिसका उत्पादन 2015-16 में 7 मीट्रिक टन की तुलना में 15 प्रतिशत बढ़कर ८.२ मीट्रिक टन होने का अनुमान है । नारियल उत्पादन में वृद्धि की बदौलत बागान फसल उत्पादन में भी तेजी आई है, जो पिछले वर्ष के १५.२.६ मीट्रिक टन की तुलना में बढ़कर १६.८४ मीट्रिक टन होने की उम्मीद है । मिर्च (सूखे) का उत्पादन पिछले वर्ष के 1.520 मीट्रिक टन के मुकाबले बढ़कर 2.126 मीट्रिक टन हो गया है। इसी तरह धनिया और हल्दी के उत्पादन में 2016-17 के दौरान बड़ी उछाल देखने को मिली है। हालांकि जीरे का उत्पादन मामूली गिरा है, जबकि इलायची और काली मिर्च जैसे अन्य मसालों में भी बढ़ोतरी देखने को मिली है। पौधरोपण फसल उत्पादन 1835 मीट्रिक टन होने का अनुमान है। ताजा अनुमानों के मुताबिक फूलों का उत्पादन २.२८ मीट्रिक टन होने का अनुमान है, जबकि शहद उत्पादन ९५,० टन के शीर्ष पर होने की उम्मीद है ।


इस पोस्ट को साझा करें



← पुराना पोस्ट नई पोस्ट →


एक टिप्पणी छोड़ें